बेंगलुरु – सोशल मीडिया पर इन दिनों एक तस्वीर खुब वायरल हो रही है जिसमें एक महिला एक बच्चे को सीने से चिपकाकर झाड़ू लगाती हुई नज़र आ रही है। लेकिन, हर किसी को इस लड़की के बारे में मालूम नहीं है। तो आइये हम आपको बताते हैं कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस तस्वीर की हकीकत क्या है। यह लड़की सड़क किनारे झाडू लगाते हुए नज़र आर रही है, लेकिन सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि लगभग हर तस्वीर में इसके साथ एक बच्चा दिखाई दे रहा है जो इसके सीने से चिपका हुआ है। आखिर ये लड़की कौन है और बच्चे को इस तरह सीने से लगाकर लड़क किनारे झाड़ू क्यों लगा रही है? आइये जानते हैं। बच्चे को सीने से चिपकाकर झाड़ू लगाती इस लड़की का सच जानकर रह जानकर रह जायेंगे दंगदरअसल, ये तस्वीरें बैंगलुरु की हैं, जहां मंगलुरु के रामकृष्ण मिशन की तरफ से आयोजित ‘स्वच्छ मंगलुरु अभियान’ इन दिनों बड़े जोर शोर से जारी हैं। ‘स्वच्छ मंगलुरु अभियान’ के तहत ही सुधीक्षा नाम की यह महिला अपने 1 साल के बेटे को सीने से चिपकाकर सड़क किनारे झाड़ू लगा रही है। इस मिशन से जुड़ी तस्वीरों के कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री मोदी की सरकार में कैबिनेट मंत्री सदानंद गौड़ा ने ट्विटर पर शेयर किया है। कैबिनेट मंत्री सदानंद गौड़ा सबसे पहले अपने ट्वीटर अकाउंट पर साफ-सफाई करते हुए सुधीक्षा किरण की तस्वीरें शेयर की है। कैबिनेट मंत्री सदानंद गौड़ा ने सुधीक्षा जैसी महिलाओं को असली मिस इंडिया बताता है। आपको बता दें कि पुनिथ राजकुमार ने 19 फरवरी को मैंगलोर सिटी कारपोरेशन (एमसीसी) और टीएमए पाई कन्वेंशन हॉल में मलबार गोल्ड द्वारा संयुक्त रूप से शुरू किया गया “स्वच्छ मैंगलोर अभियान” की शुरुआत कि थी। इस अभियान को स्वच्छता अभियान में समर्थन देने के लिए शुरु किया गया था। इस अभियान के तहत पेड़ लगाने और मैंगलोर सिटी ग्रीन मैराथन के माध्यम से स्वच्छता अभियान शुरू किया जायेगा। बच्चे को सीने से चिपकाकर झाड़ू लगाती इस लड़की का सच जानकर रह जानकर रह जायेंगे दंगआपको बता दें कि मंगलौर की नागरिक परिषद ने एबीवीपी के साथ मिलकर पहले मंगलौर में स्वच्छता अभियान शुरू करने कि तैयारी कि थी। प्रधानमंत्री ने 2014 में ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की घोषणा के बाद इस समूह ने मंगलौर में ‘स्वाभार भारथ, सर्वता भारथ’ अभियान शुरू किया। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरु किये गए स्वच्छता अभियान से पूरे देश में स्वच्छता का अभियान जारी है। इसी अभियान के तरह मैंगलोर की संस्थाएं और स्वयंसेवक समूह मैंगलोर को स्वच्छ बनाने की दिशा में प्रयास कर रहे हैं। इस महिला कि तस्वीरों को स्वच्छता अभियान कि सफलता के रुप में देखा जा रहा है।