CBSE रिजल्ट के बाद अंकों की गिनती में हुई बड़ी गड़बड़ी, छात्र परेशान

इस साल सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं देने वाले छात्रों के लिए मुसीबतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक छात्रों के अंकों की कुल संख्या में भारी मात्रा में गड़बड़ी हुई है. इस रिपोर्ट में दो छात्रों के उदाहरण दिए गए हैं जहां इन छात्रों को पहले मिले अंक और दोबारा गिनती के बाद मिले अंकों में भारी फर्क देखा गया है. सोनाली नाम की छात्रा को गणित में 68 अंक मिले. लेकिन दोबारा गिनती करवाए जाने के बाद ये अंक बढ़कर 95 हो गए. इसी तरह समीक्षा शर्मा के अंक 42 से सीधे 90 हो गए, जो करीब 100 फीसदी की बढ़त है.
यह भी पढ़े :  सरकार ने लागू कीं कृषि आयोग की कई सिफारिशें
रिपोर्ट की मानें तो ये इक्लौती घटनाएं नहीं हैं. कई और छात्रों ने भी अपने अंक बढ़ते देखा, कुछ के तो 40 अंक तक बढ़ गए. अखबार में एक सीबीएसई अधिकारी के हवाले से बयान छापा गया कि दोबारा अंकों की गिनती के लिए आए आवेदनों की संख्या बहुत बड़ी है. एक और अधिकारी के मुताबिक ऐसी गलतियों के कई कारण हो सकते हैं. बता दें कि फिलहाल सीबीएसई केवल सत्यापन की अनुमति देता है, पुनर्मूल्यांकन की नहीं. इसी के चलते अगर कोई छात्र अपनी लिखित कॉपी की फोटोकॉपी चाहता है तो उसे सत्यापन के लिए आवेदन देना होगा. एक टीवी चैनल के मुताबिक एक छात्र जिसको गणित में 5 और रसायन विज्ञान में 8 अंक मिले और अंग्रेज़ी में 85 अंक मिले, वो जल्द से जल्द अपनी कॉपी का पुनर्मूल्यांकन चाहता था. इसी चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक भुवनेश्वर में तो सत्यापन के बाद भी अंकों में गिरावट देखी गई. ओडिशा हाईकोर्ट ने बोर्ड से अंकों का पुन:सत्यापन करने को कहा है.
यह भी पढ़े :  टेरर फंडिंग: आज NIA गिलानी के छोटे बेटे से पूछताछ करेगा
ये केवल एक उदाहरण है कि कैसे छात्रों को इस साल परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. पांच राज्यों, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में हुए विधानसभा चुनावों के कारण परीक्षाओं को देरी से शुरू किया गया. वहीं एक हाई कोर्ट ऑर्डर के बाद रिज़ल्ट निकालने में भी देरी की गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *