मुख्यमंत्री और रामगोपाल का निष्कासन रद्द

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में चरम पर पहुंचे घमासान का बेहद नाटकीय ढंग से पटाक्षेप हो गया। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सपा से बर्खास्तगी के बाद पहली बार आज पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव से मुलाकात करने पहुंचे और मुलायम ने अखिलेश और अपने भाई रामगोपाल यादव का निष्कासन खत्म कर दिया। सबसे दिलचस्प यह रहा कि अखिलेश के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी चाचा और सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने मुख्यमंत्री और रामगोपाल का निष्कासन रद्द किये जाने का ऐलान किया।

आगे पढ़े क्या हुआ......

akhilesh yadav and mulayam singh yadav
शिवपाल ने ‘ट्वीट’ करके कहा ‘‘नेताजी के आदेश के अनुसार अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव का पार्टी से निष्कासन तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाता है। सब साथ मिलकर साम्प्रदायिक ताकतों से लड़ेंगे और पुन: उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएंगे।’’ बाद में संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री समेत पार्टी के सभी शीर्ष नेता बातचीत करके प्रत्याशी तय कर लेंगे। अब सब ठीक हो गया है। सपा महासचिव रामगोपाल यादव द्वारा रविवार को बुलाये गये राष्ट्रीय प्रतिनिधि सम्मेलन के भविष्य के सवाल पर शिवपाल ने कहा ‘‘अब सभी बातें खत्म हो गयी हैं। हम सब मिलकर चुनाव में जाएंगे।’’
यह भी पढ़े :  SC में अब महिला वकील चिल्लाई, जस्टिस सीकरी बोले- चिल्लाकर बात करने वालों से मुझे एलर्जी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *