चीन ने बनाया विशालकाय विमान, जमीन और पानी से भरेगा उड़ान

बीजिंग. चीन ने दुनिया के सबसे बड़े माने जा रहे स्वदेशी उभयचर (धरती और जल से उड़ान भर सकने वाला) विमान की पहली उड़ान का परिचालन किया. उभयचर यानी पानी और जमीन दोनों से उड़ान भरने में सक्षम विमान एजी 600 (कूट नाम – कुंलोंग) ने दक्षिण चीन के गुआंगदोंग प्रांत के झुहाई सिटी में चिनवान नागरिक विमानन हवाई अड्डा से उड़ान भरी. चीन ने बनाया विशालकाय विमान, जमीन और पानी से भरेगा उड़ान+ एजी600 के मुख्य डिजाइनर हुआंग लिंगसाई ने कहा, ‘इस उड़ान से चीन बड़ा उभयचर विमान विकसित करने वाले देशों में शामिल हो गया है.’ सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) ने अभियान में शामिल सभी लोगों को बधाई दी है. बधाई संदेश में कहा गया है कि मई में विशाल सी 919 यात्री विमान की पहली उड़ान के बाद खास मकसद के लिए विमान विकसित करने में यह बड़ी सफलता है. सरकारी कंपनी एविएशन इंडस्ट्री कॉरपोरेशन ऑफ चीन (एविक) ने कहा कि इस विमान का ढांचा 39.6 मीटर लंबा है और डैने 38.8 मीटर के हैं. यह अधिकतम 53.5 टन वजन और 500 किलोमीटर प्रति घंटे तक की उड़ान भर सकता है. एजी 600 की उड़ान की क्षमता 12 घंटे है. सरकार न्यूज एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक स्वदेशी तकनीक से विकसित दुनिया के सबसे बड़े उभयचर विमान का इस्तेमाल मुख्य रूप से समुद्र में बचाव कार्य, जंगल में लगी आग बुझाने और समुद्र की निगरानी में किया जाएगा. राहत और बचाव अभियान के दौरान यह विमान 50 लोगों को ढो सकता है, आग बुझाने के लिए 20 सेकेंड में 12 टन पानी संग्रह कर सकता है. एक बार ईंधन भरने के बाद 370 टन पानी ढो सकता है.
यह भी पढ़े :  पाकिस्तान में विमान यात्रियों को बीच रास्ते में उतरा, कहा- अब आगे बस से जाओ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *