इस्लामाबाद : इसमें कोई दो मत नहीं कि हाफिज को लेकर पाकिस्तान दबाव में है. हाफिज सईद की नजरबंदी खत्म करने और उसके द्वारा राजनीतिक पार्टी बनाने पर अमेरिका द्वारा नाराजगी जताने के बाद अब पाकिस्तान सरकार ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट में लिखित आग्रह किया है कि हाफिज सईद की राजनीतिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) को प्रतिबंधित संगठनों की शाखा बताते हुए इसके पंजीकरण का विरोध किया है.हाफिज की पार्टी को मंजूरी नहीं देने का आग्रह बता दें कि पाकिस्तान के एक अख़बार के मुताबिक एक सुरक्षा एजेंसी की रिपोर्ट के हवाले से कहा गया है कि हाफिज सईद की एमएमएल का राजनीतिक दल के रूप में पंजीकरण पाक राजनीति में हिंसा व उग्रवाद पैदा करेगा. इसलिए सरकार ने कहा कि वह एमएमएल की उस याचिका को खारिज कर दे जिसमें चुनाव आयोग द्वारा राजनीतिक पार्टी के तौर पर उसे पंजीकृत करने का आग्रह किया गया है. उल्लेखनीय है कि आतंकी सरगना हाफिज पाकिस्तान में न सिर्फ 2018 का आम चुनाव लड़ना चाहता है, बल्कि अपनी पार्टी उतारकर बाकायदा अपने संगठन को राजनीतिक दल की मान्यता दिलाना चाहता है. लेकिन पाकिस्तान भविष्य में होने वाली उग्रवादी घटनाओं को देखते हुए हाफिज की पार्टी का पंजीयन नहीं कराने का विरोध कर रहा है . भले ही ऐसा वह अमेरिका के दबाव में कर रहा हो.