जानिए क्या हुआ ! ना जाने कब सुधरेंगे यह फिल्मी लोग आए दिन हिंदू धर्म को लेकर जिस तरह से अपमान भरी फिल्में यह लोग बनाते आ रहे हैं उसे देखते हुए अब तो यह समझ नहीं आता हम लोग पाकिस्तान में है या भारत में। जब तक हिंदू एक सुर में इनके खिलाफ आवाज उठाना नहीं सीखेगा तब तक यह लोग नहीं सुधरेंगे जब तक इन लोगों को सबक नहीं सिखाया जाएगा तब तक यह लोग नहीं बदलेंगे सबसे बड़ी बात यह है कि कांग्रेस,सेक्युलर समाज वामपंथी राजनीतिक पार्टियां इसे अभिव्यक्ति की आजादी बताती हैं लेकिन गलती से कोई दूसरे धर्म को लेकर ऐसी फिल्म बना दे तो वही लोग सड़कों पर उतरने के लिए तैयार रहते। प्रभु राम पर सवाल उठाने वाले डायरेक्टर को हिन्दुओं ने सिखाया सबक ज़ोर से बोलो हर हर महादेव आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अभी एक बार फिर से एक फिल्म में हिंदू धर्म का मजाक उड़ाया गया जिस पर सेंसर बोर्ड को आपत्ति है और उन्होंने इस फिल्म को रोक लगादी आपको हम बता दें कि इस मामले से नाराज हिंदू समाज के लोगों ने इस फिल्म को बनाने वाले सुनील सिंह के घर पर प्रदर्शन किया आपको हम बता दे सुनील सिंह के ऊपर अब कुछ व्यक्तियों ने हमला भी कर दिया और उसके मुंह पर कालिख पोती। प्रभु राम पर सवाल उठाने वाले डायरेक्टर को हिन्दुओं ने सिखाया सबक ज़ोर से बोलो हर हर महादेव हम इस हमले का स्वागत तो नहीं करते हैं लेकिन फिर भी इन लोगों को भी समझना चाहिए कि जिस देश में 80% जनसंख्या हिंदू समाज की है उसी देश में रहते हुए हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की हिम्मत यह लोग कैसे किस आधार पर करते हैं आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि इस फिल्म बनाने वाले सुनील के घर के बाहर भी प्रदर्शन किया गया साथ घर की दीवारों को भी गाली क्यों दी गई किस फिल्म को बनाने वाला सुनील सिंह अब शुरू सरकार से सुरक्षा की भीख मांग रहे हैं लेकिन उस वक्त कहां थे जब भी फिल्म बनाई गई तब इस बात का डर नहीं था क्या। प्रभु राम पर सवाल उठाने वाले डायरेक्टर को हिन्दुओं ने सिखाया सबक ज़ोर से बोलो हर हर महादेव फिल्म गेम ऑफ अयोध्या का निर्माण पूर्व एमएलसी लोक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने किया है यह राजनीति से आते हैं साथ ही इस तरह का काम इनकी राजनीतिक मनसा को ही दरसा आ रहा है।