राष्ट्रपति पद के लिए बीजेपी के प्रत्याशी रामनाथ कोविंद के नाम के ऐलान के साथ ही विपक्षी पार्टियों ने भी अपना रुख स्पष्ट करना शुरू कर दिया है. बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने कहा है कि अगर कोई अन्य दलित उम्मीदवार मैदान में नहीं आता है तो वो कोविंद को सपोर्ट कर सकती हैं. मायावती ने कहा कि आज अमित शाह और वेंकैया नायडू ने कोविंद के विषय में अपने फैसले की जानकारी देने के लिए मुझे फोन किया. मैं उनकी पसंद से पूरी तरह सहमत नहीं हूं. लेकिन मैं बहुत निगेटिव भी नहीं हूं. इसलिए बीएसपी अब तक पॉजीटिव है.लेकिन ये सब यूपीए के पसंद पर निर्भर करता है. मायावती ने कहा कि अगर विपक्ष किसी अन्य दलित और लोकप्रिय चेहरे को सामने नहीं लाता है तो वो कोविंद को समर्थन पर विचार कर सकती हैं. मायावती ने कहा कि कोविंद कानपुर में कोली समुदाय से आते हैं लेकिन उनकी आरएसएस की पृष्ठभूमि भी रही है.