बीजिंग, प्रेट्र : हांगकांग ने भारतीयों के लिए वीजा मुक्त सुविधा वापस ले ली है। सोमवार से हांगकांग जाने के लिए भारतीयों को पहले से पंजीयन कराना होगा। माना जा रहा है कि चीन के दबाव में हांगकांग ने यह फैसला लिया है। हांगकांग चीन का विशेष प्रशासित क्षेत्र है।

एअरपोर्ट तक के आवागमन के लिए नही चाहिए होगा वीसा

हांगकांग आव्रजन विभाग ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर कहा है,'भारतीय नागरिकों के लिए आगमन पूर्व पंजीकरण 23 जनवरी से लागू होगा। पंजीकरण की ऑनलाइन सेवा शुरू कर दी गई है। भारतीय नागरिकों के लिए हांगकांग में प्रवेश करने के लिए ऑनलाइन आगमन पूर्व पंजीकरण जरूरी होगा।' बयान के मुताबिक सीधे हवाई मार्ग से आने वाले और हवाई अड्डे क्षेत्र को नहीं छोड़ने वाले भारतीयों के लिए आगमन पूर्व पंजीकरण जरूरी नहीं है। आगमन पूर्व पंजीकरण सामान्य तौर छह महीने के लिए वैध होगा।

शरण की चाहत रखने  वाले भारतीयों की बढती संख्या का दिया हवाला

इस फैसले से कारोबार और छुट्टियां बिताने के लिए हांगकांग आने वाले करीब पांच लाख भारतीयों को बड़ा झटका लगा है। अब तक हांगकांग भारतीयों को बिना वीजा के केवल वैध पासपोर्ट पर 14 दिनों तक रहने की इजाजत देता था। इस सुविधा को समाप्त करने के लिए हांगकांग ने शरण की चाहत रखने वाले भारतीयों की बढ़ती संख्या का हवाला दिया है। हालांकि भारतीय अधिकारियों का कहना है कि हांगकांग शरण का बहाना बना रहा है। शरण चाहने वाले भारतीयों की संख्या बेहद कम है। केवल इसी कारण से वह लाखों सैलानियों से होने वाली आय जिससे उसकी अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलती है को नुकसान नहीं पहुंचाएगी।