किसानों के कर्ज माफी में एक और राज्य का नाम जुड़ गया है. कर्नाटक सरकार ने प्रति किसान 50,000 रुपये तक का कर्ज माफ करने की घोषणा की है. कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा कि हमारी सरकार, विशेषकर कृषक को हमारी नीतियों, नवप्रवर्तन और समर्थन के जरिए सक्षम बनाने के लिए वचनबद्ध है. उन्होंने कहा कि इस महत्वपूर्ण समय के दौरान में हमारी सरकार प्रति किसान 50,000 रुपये तक का कर्ज माफ किए जाने की घोषणा करती है. ये फायदा उनको मिलेगा, जिन्होंने 20/06/2017 तक सहकारी बैंकों से ऋण लिया है. इससे राज्य भर में 22,27,506 किसानों को लाभ पहुंचाया जाएगा. इससे सरकारी खजाने पर 8,165 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. हम जानते हैं कि किसानों को सशक्त बनाने के लिए हमारे किसानों की ओर से मैं पीएमओ इंडिया से अनुरोध करता हूं कि तीव्र सूखे पर विचार करें और वाणिज्यिक बैंकों से किसानों के ऋण को माफ कर दें.