पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी 25 दिसंबर 2017 को 93 साल के हो गए हैं। उनका जन्म 25 दिसंबर 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था। उनका व्यक्तित्व और उनकी बातें ऐसी थी कि ना सिर्फ समर्थक, बल्कि उनके विरोधी भी तालियां बजाए बिना नहीं रहते थे। उनके जन्मदिन के अवसर पर हम आपको अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा कही गई 10 ऐसी बातें बता रहे हैं जिनके लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा-

जानिए अटल बिहारी वाजपेयी की वो 10 बातें, जिनपर विरोधियों ने भी बजाई थी तालियांजानिए अटल बिहारी वाजपेयी की वो 10 बातें, जिनपर विरोधियों ने भी बजाई थी तालियांये हैं वो 10 फेमस बातें

1. आप अपने दोस्त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं।  2. छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता।  3. लोकतंत्र एक ऐसी जगह है जहां दो मूर्ख मिलकर एक ताकतवर इंसान को हरा देते हैं।  4. इतिहास में हुई भूल के लिए आज किसी से बदला लेने का समय नहीं है, लेकिन उस भूल को ठीक करने का सवाल है। 5. बाधाएं आती है आएं, घिरें प्रलय की घोर घटाएं, पावों के नीचे अंगारे, सिर पर बरसें यदि ज्वालाएं, निज हाथों से हंसते–हंसते, आग लगा कर जलना होगा। कदम मिलाकर चलना होगा।  6. हार नहीं मानूँगा, रार नहीं ठानूँगा, काल के कपाल पर लिखता मिटाता हूँ। गीत नया गाता हूँ। 7. शत–शत आघातों को सहकर जीवित हिंदुस्थान हमारा जग के मस्तक पर रोली सा शोभित हिंदुस्थान हमारा।  8. मैं हमेशा से ही वादे लेकर नहीं आया, इरादे लेकर आया हूं। 9. मेरे पास ना दादा की दौलत है और ना बाप की।  मेरे पास मेरी मां का आशिर्वाद है।  10. अगर हमारा देश शक्तिशाली है तो किसी को भी हमारे देश पर आंख उठाकर देखने की हिम्मत नहीं होगी।