लालू ने मंडेला और अंबेडकर से की अपनी तुलना, बोले- झुकूंगा नहीं

चारा घोटाला मामले में आज सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया। फैसले के बाद लालू ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर विरोध दर्ज किया। लालू ने ट्वीट किया ‘झूठे जुमले बुनने वालों सच अपनी जिद पर खड़ा है। धर्मयुद्ध में लालू अकेला नहीं पूरा बिहार साथ खड़ा है। हम फैसले से निराश हुए हैं हताश नहीं हुए हैं।’
लालू ने मंडेला और अंबेडकर से की अपनी तुलना, बोले- झुकूंगा नहीं
बता दें कि लालू को 90 लाख के चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार केस में दोषी करार दिया है। जब यह घोटाला हुआ तब लालू बिहार के मुख्यमंत्री थे और पशुपालन विभाग उनके पास ही था। उन्होंने आगे अपने ट्वीट में लिखा कि “मरते दम तक सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ता रहूँगा। जगदेव बाबू ने गोली खाई, हम जेल जाते रहते है लेकिन मैं झुकूंगा नहीं। लड़ते-लड़ते मर जाऊंगा लेकिन मनुवादियों को हराऊँगा। उन्होंने अपने ट्वीट में नेलसन मंडेला, किंग मार्टिन लूथर, बाबा साहेब अंबेडकर का भी जिक्र किया और लिखा कि इतिहास में उनसे खलनायक की तरह व्यवहार किया। वो आज भी पक्षपातपूर्ण, जातिवादियों और जाति-विचारों वालों के लिए खलनायक ही हैं। वो आगे लिखते है सामंतवादी ताकतों, जानता हूं लालू तुम्हारी राहों का कांटा नहीं आंखों की कील है। पर इतनी आसानी से नहीं उखाड़ पाओगे। वो आगे ललकारते हुए लिखते हैं ऐ सुनो कान खोल कर, आप इस गुदड़ी के लाल को परेशान कर सकते हो पर पराजित नहीं। 
उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा ‘भाजपा अपनी जुमलेबाजी व कारगुजारियों को छुपाने और वोट प्राप्त करने के लिए विपक्षियों का पब्लिक पर्सेप्शन बिगाड़ने के लिए राजनीति में अनैतिक और द्वेष की भावना से ग्रस्त गंदा खेल खेलती है।’ उन्होंने कहा कि ‘मेरे साथ हर बिहारी है, जो अकेला सब पर भारी है मेरा संघर्ष ऐसे ही जारी रहेगा। मरते दम तक सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ता रहूंगा और झुकूंगा नहीं। हमारे खिलाफ राजनीतिक प्रोपोगेंडा फैलाया गया लेकिन आप मुझे परेशान कर सकते हों पर हरा नहीं सकते। ‘ गौरतलब है कि यह घोटाला 1990 के दशक में सामने आया था। उस वक्त का यह सबसे बड़ा घोटाला था। इसमें करीब 950 करोड़ रूपये की हेराफेरी की गई थी। 
यह भी पढ़े :  शराब से भरी कार सड़क पर पलटी , पुलिस के पहुंचने से पहले ही लोगों ने लूटी बोतलें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *