नई दिल्ली। मोम के पुतलों के लिए मशहूर मैडम तुसाद म्यूजियम जल्द ही राजधानी दिल्ली में भी खुलने जा रहा है। यहां मोदी का पांचवा पुतला लगेगा। उनके बाकी 4 स्टैचू लंदन, सिंगापुर, हांगकांग और बैंकॉक के म्यूजियम में रखे गए हैं। मैडम तुसाद का यह भारत में इकलौता और दुनिया में 23rd एडिशन है। इसका 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है, जून तक खुलने की उम्मीद है।
-ऑपरेशन की जिम्मेदारी ब्रिटिश फर्म मर्लिन एंटरटेनमेंट्स के पास है। इंडियन यूनिट के डायरेक्टर अंशुल जैन ने बताया कि अमिताभ बच्चन ओपनिंग में शामिल होंगे।
- 20 इंटरनेशनल और नेशनल आर्टिस्ट मोम के पुतले तैयार कर रहे हैं। हर पुतले को बनाने में 4 महीने का वक्त लगा। एक पुतले पर 1.5 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च आया।
- कनॉट प्लेस की रीगल बिल्डिंग में बनाए जा रहे म्यूजियम में इतिहास, खेलकूद और फिल्म की 50 से ज्यादा हस्तियों के पुतले लगेंगे, इनमें 60% भारतीय होंगे।
- म्यूजियम में करीब 500 दर्शक एक साथ एंट्री कर पाएंगे। किफायती दरों पर टिकट मिलेंगी, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसे देख सकें।