मुंबई ट्रैफिक पुलिस अब कैशलेस हो गई है। मुंबई में सड़क पर तैनात कोई भी ट्रैफिक पुलिसकर्मी नकद में जुर्माना नहीं ले सकता। मुंबई में तैनात ट्रैफिक पुलिसकर्मियों के हाथ में अब रसीद बुक की जगह एम. स्वाइप मशीन और कमर में बड़े बैग की जगह छोटा प्रिंटर आ गया है। यातायात नियम तोड़ने वालों से अब यह कार्ड के जरिए जुर्माना ले रहे हैं, नगद नहीं। जिनके पास क्रेडिट या डेबिट कार्ड नहीं है उन्हें पर्ची देकर किसी भी वोडाफोन सेंटर या फिर ट्रैफिक चौकी में जाकर पैसे भरने को कहा जाता है।मुंबई ट्रैफिक पुलिस के मुखिया और सहआयुक्त मिलिंद भारम्बे ने बताया कि वहां भी अधिकृत एजेंसी के प्रतिनिधि पैसे लेंगे। किसी भी हालात में कोई भी ट्रैफिक पुलिस वाला नकद नहीं जमा करेगा। इसकी शुरुआत इस साल से शुरू हो गई है। चौकी पर भी रुपये जमा करने की व्यवस्था भी सिर्फ कुछ समय तक के लिए है, क्योंकि बहुत से टेम्पो ट्रक, ऑटो रिक्शा और टैक्सी चालकों के पास क्रेडिट या डेबिट कार्ड नहीं हैं।