दोस्तों आपने ऐसा बहुत बार देखा होगा कि शादी के बाद जब पति पत्नी एक साथ अपनी नई ग्रहस्थी शुरू करते हैं और काफी समय बीत जाने के बाद भी उन्हें बच्चे का सुख नही मिलता, जिसके चलते कुछ लोग दूसरी शादी भी कर लेते हैं. ऐसा करने के बाद उन्हें बच्चे का सुख भी प्राप्त हो जाता है. अब जब बच्चे का सुख मिल जाता है तो कुछ अंध विश्वासी लोगों ने इसे एक परंपरा का नाम दे दिया है. यह परंपरा राजस्थान के एक गांव डेरासर की है, जहाँ एक मर्द को मजबूरन दो औरतों से शादी करनी पड़ती है. एक ऐसा गाँव जहाँ बाप बनने के लिए करनी पड़ती है दो शादी, वजह हैरान कर देगी ! वैसे तो ऐसा बहुत कम होता है कि पहली पत्नी से बच्चा न होने पर जब दूसरी शादी से बच्चा हो जाता है तो उसके बाद पहली पत्नी को भी बच्चे का सुख प्राप्त हो जाता है. दरअसल, कुछ गाँव में ऐसे बहुत से घर हैं जहाँ पर पति की पहली शादी के बाद बच्चे का सुख प्राप्त नही होता. एक ऐसा गाँव जहाँ बाप बनने के लिए करनी पड़ती है दो शादी, वजह हैरान कर देगी ! जिसके चलते उन्होंने दूसरी शादी कर ली और तब जाकर उन्हें बच्चे का सुख मिला. वहीं कुछ लोग ऐसे भी है, जिन्होंने पहली शादी के बाद दोबारा शादी नही की और अभी तक उन्हें संतान का सुख प्राप्त नही हुआ. धीरे-धीरे लोगों कि इस सोच ने इसे परंपरा का रूप दे दिया. अब इस गाँव में आदमी दो शादियाँ करते हैं, जो इनके लिए बहुत ही आम बात है.