1994 में जब ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीम पाकिस्तान के दौरे पर थी, तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने आरोप लगाया था कि पाकिस्तान के कप्तान सलीम मलिक ने उन्हें खराब खेलने के लिए पैसा ऑफर किया था। -इन आरोपों की जांच के बाद सलीम मलिक पर सन 2000 में आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था। -वर्ष 1998 में पाकिस्तान के एक बॉलर अता-उर-रहमान ने वसीम अकरम पर न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खराब खेलने के लिए 3 लाख रुपये देने का आरोप लगाया। -सन 2000 में अता-उर-रहमान को मैच फिक्सिंग का दोषी पाया गया और उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा। -इसके अलावा 2010 में पाकिस्तान के तीन खिलाड़ियों सलमान बट, मोहम्मद आमिर और मोहम्मद आसिफ पर स्पॉट फिक्सिंग का आरोप लगा था। -इन तीनों पर आईसीसी ने 5 वर्षों का प्रतिबंध लगाया। सलमान बट तब पाकिस्तान के कप्तान थे और ऐसे आरोप लगे थे कि इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच में मोहम्मद आमिर और मोहम्मद आसिफ ने जानबूझकर नो बॉल्स की थीं। कई आतंकी वारदातों में शामिल था लश्कर-ए-तैयबा का चीफ जुनैद मट्टू -दक्षिण कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा का चीफ जुनैद मट्टू, कुलगाम का रहने वाला था। -वो 3 जून 2015 को लश्कर में शामिल हुआ था। -मट्टू ना सिर्फ काफी पढ़ा-लिखा था, बल्कि उसे टेक्नॉल्जी की भी अच्छी जानकारी थी। -जुनैद मट्टू पहली बार उस वक्त सुर्खियों में आया था, जब उसने पिछले साल जून में अनंतनाग में पुलिस स्टेशन पर हमला किया था। -मट्टू वही आतंकवादी था, जिसने जून 2016 में अनंतनाग के एक बस स्टैंड पर, 2 पुलिसवालों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। -सेना ने हाल ही में घाटी में सक्रिय 12 खूंखार आतंकियों की तस्वीरों के साथ लिस्ट जारी की थी। जिसमें इस आतंकवादी का नाम भी शामिल था।