इस्लामाबाद: पाकिस्तानी जेल में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी की सोमवार को मुलाकात होगी। मुलाकात के बिंदुओं को पाकिस्तान सरकार ने रविवार को साफ कर दिया। विदेश मंत्रालय ने बताया कि जाधव की मां और पत्नी सोमवार को नियमित विमान सेवा से इस्लामाबाद आएंगे और वे बंदी से मुलाकात के बाद उसी दिन वापस भारत लौट जाएंगे। जाधव के साथ मुलाकात में भारतीय उप उच्चायुक्त जेपी सिंह उनके साथ रहेंगे। इस लिहाज से पाकिस्तान ने भारत की सभी मांगें मान ली हैं।पाकिस्तान ने मानी भारत की सभी मांगें, जाधव की मां और पत्नी से पाकिस्तान में होगी मुलाकात कुलभूषण जाधव को तालिबान ने ईरान के सीमावर्ती इलाके से अगवा किया था और उसके बाद उन्हें पाकिस्तानी एजेंसियों के हवाले कर दिया। पाकिस्तान ने जाधव को भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ का एजेंट बताते हुए उन पर बलूचिस्तान में आतंकी गतिविधियां चलाने का आरोप लगाकर सैन्य अदालत में मुकदमा चलाया, जहां उन्हें मौत की सजा दी गई। सुनवाई के दौरान जाधव को कोई कानूनी मदद नहीं दी गई। भारत इस एकतरफा सजा के एलान पर विरोध जताते हुए मामले को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में ले गया। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने जाधव की फांसी पर फिलहाल रोक लगा रखी है। वहां पर जाधव से जुड़ा मामला लंबित है। भारत सरकार के अनुसार जाधव नौसेना की सेवा के बाद ईरान में अपना निजी कारोबार कर रहे थे। वह किसी भी खुफिया मिशन का हिस्सा नहीं थे।

20 को जारी हो चुका है वीजा

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने ट्वीट कर जाधव से मुलाकात के बिंदुओं को स्पष्ट किया है। प्रवक्ता के अनुसार यह मुलाकात पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के दफ्तर में होगी और मुलाकात की फोटो और वीडियो जारी किए जाएंगे। जाधव से उनकी मां और पत्नी की मुलाकात इस्लामी रीति के अनुसार होगी और यह पूरी तरह से मानवीय मूल्यों पर आधारित होगी। विदेश मंत्रालय ने 20 दिसंबर को जाधव की मां और पत्नी के पाकिस्तान दौरे के सिलसिले में वीजा जारी कर दिया था। पाकिस्तान मीडिया के अनुसार सरकार ने चंद रोज पहले भारत सरकार से कहा था कि वह जाधव से मुलाकात के कार्यक्रम का प्रस्ताव जल्द दे जिससे उसे अंतिम रूप दिया जा सके। विलंब होने पर मुलाकात का कार्यक्रम रद होने की आशंका जताई गई थी।