भारत घरेलू कंपनियों के हितों की रक्षा के लिये चीन, जापान और कोरिया जैसे देशों से आयातित हॉट एंड कोल्ड रोल्ड स्टील उत्पादों पर डंपिंग रोधी शुल्क लगा सकता है। DGAD ने की सिफारिश
  • डंपिंग रोधी एवं संबद्ध शुल्क (DGAD) ने अलग-अलग जांच के बाद चीन, जापान, कोरिया, रूस, ब्राजील और इंडोनेशिया से आयातित हॉट एंड कोल्ड रोल्ड स्टील उत्पादों के लौह या अलौह इस्पात पर डंपिंग रोधी शुल्क लगाने की सिफारिश की है।
  • दो अलग-अलग जांच में डीजीएडी ने यह निष्कर्ष निकाला इन देशों से उक्त उत्पादों की डंपिंग की जा रही है। डीजीएडी जहां डंपिंग रोधी शुल्क की सिफारिश करता है वहीं वित्त मंत्रालय इसे अमल में लाता है।
टीडीआई पर लग सकता है शुल्क
  • भारत टीडीआई के सस्ते आयात से घरेलू उत्पादकों को बचाने के लिए इस पर डंपिंग रोधी शुल्क लगा सकता है। टीडीआई का उपयोग फोम बनाने में किया जाता है और चीन, जापान तथा कोरिया से इसका सस्ता आयात किया जा रहा है।
  • गुजरात नर्मदा वैली फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड ने टोलुएन डाई-आइसोकाइनेट (टीडीआई) के आयात की डंपिंग रोधी जांच कराने को लेकर डंपिंग रोधी एवं संबद्ध शुल्क (डीजीएडी) के समक्ष आवेदन दिया था। डीजीएडी ने प्रारंभिक जांच में पाया कि इन तीन देशों से निर्यात किए जाने वाला रसायन का मूल्य सामान्य भाव से कम है, जिससे घरेलू उद्योग प्रभावित हो रहे हैं।