राष्ट्रपति पद के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार के नाम पर भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में फैसला हो गया है। बिहार के राज्यपाल राम नाथ कोविंद राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए के उम्मीदवार होंगे। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली में सोमवार दोपहर राम नाथ कोविंद के नाम की घोषणा की। कोविंद भाजपा का दलित चेहरा हैं। भाजपा ने उनके नाम की घोषणा करके विपक्ष को भी साधने की कोशिश की है। वहीं, राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्षी दल 22 जून को बैठक करेंगे। राम नाथ ​कोविंद के नाम की घोषणा होने से पहले वेंकैया नायडू ने वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को उन्हें राजग उम्मीदवार बनाए जाने की जानकरी दी। पीएम मोदी ने इस बारे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को जानकारी दी है भाजपा संसदीय बोर्ड की करीब दो घंटे तक चली बैठक के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कोविंद 23 जून को इस शीर्ष संवैधानिक पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर सकते हैं। कोविंद 16 साल तक सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट में वकालत कर चुके हैं। वह भाजपा के राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं। कोविंद अगर राष्ट्रपति बनते हैं, तो वे के आर नारायणन के बाद देश के दूसरे दलित राष्ट्रपति होंगे। वे यूपी में कानपुर जिले के परौंख गांव के रहने वाले हैं। पढ़ें, दलित नेता राम नाथ कोविंद से जुड़ी 7 खास बातें इससे पहले राष्ट्रपति पद के चुनाव में अपने उम्मीदवार के नाम पर फैसला करने के लिए आज दोपहर 12 बजे भाजपा के संसदीय बोर्ड की बैठक हुई। बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू समे​त कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए।
तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव ने एनडीए उम्मीदवार को दिया समर्थन प्रधानमंत्री मोदी से बात करने के बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने भी एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार राम नाथ कोविंद को अपना समर्थ दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने आज एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार के समर्थन को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी से बातचीत की। राष्ट्रपति चुनाव: देश के दूसरे दलित राष्ट्रपति बन सकते हैं राम नाथ कोविंद उम्मीदवार के प्रस्तावक एवं अनुमोदक होंगे केंद्रीय मंत्री, सहयोगी दलों के नेता        भाजपा राष्ट्रपति पद के अपने उम्मीदवार का नामांकन भरने के लिए अपने केंद्रीय मंत्रियों और सहयोगी दलों के वरिष्ठ नेताओं को प्रस्तावक और अनुमोदक बनायेगा और इनके नामों की घोषणा भी जल्द की जायेगी । राष्ट्रपति चुनाव: पढ़िए चुनाव की प्रकिया, जानें जीत से कितनी दूर है मोदी सरकार भाजपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने 19 और 20 जून को आपने सांसदों की बैठक बुलाई है, जिसमें उन्हें 14 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले मतदान की प्रक्रिया के बारे में बताया जायेगा। प्रस्तावकों एवं अनुमोदकों में विधायक भी शामिल होंगे और इस बारे में औपचारिकताएं 20 जून को आगे बढ़ाने की संभावना है। भाजपा के एक नेता ने बताया कि राष्ट्रपति पद के लिए भाजपा के उम्मीदवार का  नामांकन 23 जून को भरा जाएगा। पार्टी ने 60—60 प्रस्तावकों वाले चार सेट तैयार किये हैं और इतनी संख्या में अनुमोदन भी बनाये हैं। इसमें केंद्रीय मंत्रियों के अलावा राजग के अन्य नेता और निर्दलीय सांसद भी शामिल होंगे। गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने अगले राष्ट्रपति के संबंध में नामांकन भरने की प्रकिया 14 जून को शुरू कर दी है। राष्ट्रपति चुनाव: 17 जुलाई को होगा मतदान, 20 जुलाई को होगी मतगणना-EC राष्ट्रपति चुनाव: अब BJP बनाएगी मनपसंद राष्ट्रपति, AIADMK ने दिया समर्थन