सोल। दक्षिण कोरिया में भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरीं देश की राष्ट्रपति पार्क ग्वेन-हे ने सैमसंग सहित कारोबारी संस्थानों से रिश्वत ली है या नहीं, यह सुनिश्चित करने के लिए की जा रही व्यापक जांच में अदालती आदेश के तहत दक्षिण कोरिया के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री मून ह्यूंग-प्यो को आज गिरफ्तार कर लिया गया। मून ह्यूंग-प्यो वर्तमान में नेशनल पेंशन सर्विस (एनपीएस) के प्रमुख हैं। उन्होंने स्वीकार किया कि दिसंबर 2013 से अगस्त 2015 तक बतौर स्वास्थ्य मंत्री उन्होंने सैमसंग की दो इकाइयों के विवादित विलय के समर्थन में सरकारी कोष के इस्तेमाल पर जोर दिया था।

police handcuffs
समाचार एजेंसी ‘योनहाप’ ने बताया कि सोल सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने विशेष वकील की ओर से उपलब्ध साक्ष्य की समीक्षा के बाद उनकी गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी किया था। पिछले साल चील इंडस्ट्रीज और सैमसंग सीएंडटी के बीच विलय के पक्ष में मतदान के लिए कोष पर जोर देने के आरोपों पर मून को बुधवार को हिरासत में लिया गया था। मामले पर इस वक्त संवैधानिक अदालत विचार कर रही है, जिसे महाभियोग की वैधता पर फैसले के लिए आज की तिथि से 180 दिनों का समय दिया गया है।