नई दिल्लीः टीम इंडिया के मुख्य कोच अनिल कुंबले के इस्तीफे पर पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि कुंबले के जाने से जो शून्य बना है उसे भरना कठिन है. यूसी न्यूज से बातचीत में सहवाग ने कहा कि 'मैं कभी कोच अनिल कुंबले के अंडर नहीं खेला हूं, फिर भी वो मेरे सीनियर है, मेरे कप्तान रहे है. यहां तक की अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में मेरी वापसी उन्हीं की कप्तानी में हुई. कोच कुंबले के कार्यकाल के दौरान टीम इंडिया का प्रदर्शन भी अभूतपूर्व रहा है, अब जो कोई भी कुंबले की जगह नया कोच आएगा उसके लिए इतना कुछ करना आसान नहीं होगा.' कुंबले जैसा कोई भी नहींः सहवाग वीरू ने कहा कि 'कोच के तौर पर कुंबले की उपलब्धियों को दोहराना किसी के लिए भी काफी मुश्किल है, मैं कुंबले के कोचिंग स्टाइल पर कुछ नहीं कहूंगा. लेकिन एक सीनियर के तौर पर, एक खिलाड़ी के तौर पर उनसे बेहतर कोई भी नहीं है.'वीरू ने यहां भारतीय और विदेशी कोच की लड़ाई पर भी बात की, क्योंकि सहवाग और पूर्व ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर टॉम मूडी को टीम इंडिया के सबसे प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. विदेशी कोच और भारतीय कोच में अंतर सहवाग ने कहा 'भारतीय और विदेशी कोच में ज्यादा कुछ अंतर नहीं है, बस मुझे लगता है कि भारतीय कोच ज्यादा बेहतर तरीके से टीम को कम्यूनिकेट कर सकता है. कभी-कभी, ऐसा होता है कि कोई खिलाड़ी अपनी बात को अंग्रेजी से ज्यादा हिंदी बेहतर तरीके से समझा सकता है. इस तरह से आप अपने खिलाडी़ का विश्वास हासिल करते हैं ' सहवाग ने ये भी कहा कि 'आप भारतीय कोच के साथ जोक्स भी कर सकते है.' सहवाग ने टीम इंडिया के कोच बनने लिए भेजा दो लाइन का CV ! दो लाइन का सीवी भेजने पर भी बोले सहवाग बीसीसीआई को कोच पद के लिए दो लाइन का सीवी भेजने के सवाल पर सहवाग ने कहा 'अगर मैंने छोटा सीवी भेजा है तो मेरा नाम ही काफी है, मैं जानना चाहता हूं कि इस तरह की खबरों का सूत्र क्या है ?, जिससे मुझे ये पता चले कि उस सूत्र को ये जानकारी कहां से मिली ' आपको बता दें कि भारतीय टीम के कोच पद के लिए नामांकन दाखिल करने वालों में आस्ट्रेलियाई कोच टाम मूडी और इंग्लैंड के रिचर्ड पायबस, पूर्व तेज गेंदबाज डोडा गणेश और भारत ए के पूर्व कोच लालचंद राजपूत हैं. बीसीसीआई के मुताबिक, टीम इंडिया के हेड कोच के लिए 31 मई तक कैंडिडेट्स अप्लाई करने का मौका दिया गया था, क्रिकेट एडवायजरी कमेटी के सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण हेड कोच के लिए कैंडिडेट्स का इंटरव्यू लेंगे. बीसीसीआई ने कहा, 'हेड कोच के ट्रांस्पेरेंट और फेयर अप्वाइंटमेंट के लिए कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स की ओर से नामित सदस्य पूरी प्रॉसेस पर नजर रखेगा.' कोच की नियुक्ति वेस्ट इंडीज दौरे के बाद होगी.