सबसे बड़ा कारण खुद कप्तान विराट कोहली माने

अनिल कुंबले पिछले साल टीम इंडिया के हेड कोच चुने गए. सालभर में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया. इसके बाद भी वे अपनी कुर्सी नहीं बचा सके. इसके पीछे कई कारण हैं, पर सबसे बड़ा कारण खुद कप्तान विराट कोहली माने जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि पिछले कुछ दिन से विराट कोच कुंबले के विरोध में खुलकर आ गए थे. इन 5 कारणों के चलते कुंबले इस्तीफे के लिए हुए मजबूर? 1. कुंबले के नाम पर खुलकर सामने आ गे थे विराट चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के हाथों हार के बाद कोच कुंबले और कप्तान विराट के बीच सुलझता हुआ मामला फिर उलझ गया था. विराट ने फाइनल से एक दिन पहले क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के समक्ष कुंबले को लेकर खुलकर आपत्ति जताई थी. जिससे सलाहकार समिति पसोपेश में थी.
यह भी पढ़े :  इतिहास में आज: जब युवराज सिंह ने लगाए थे ब्रॉड के एक ओवर में 6 छक्के
2.कोच के तौर पर शास्त्री को चाहते हैं विराट मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो कोच के तौर पर विराट कोहली की पहली पसंद रवि शास्त्री हैं. वह कुंबले से पहले बतौर डायरेक्टर और कोच टीम इंडिया से जुड़े थे.
3.रविवार को ही कुंबले का कॉट्रैक्ट खत्म हुआ था 
चैंपियंस ट्रॉफी के बाद अनिल कुंबले का बतौर कोच कार्यकाल खत्म हो रहा था, जिसे बीसीसीआई ने इंडीज दौरे तक बढ़ा दिया था. 25 मई को इस पद के लिए आवेदन मांगे गए थे. कोच के लिए बीसीसीआई के मंगाए आवेदनों में कुंबले को सीधे एंट्री मिली थी. वहीं, पूर्व बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग भी इस दौड़ में शामिल हैं. 4. बोर्ड में कोई तरफदारी वाला न होना कुंबले का सिलेक्शन टीम इंडिया के धाकड़ क्रिकेटर्स रहे सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण ने किया था. पर उसके बाद कुंबले को बोर्ड में सपोर्ट करने वाला कोई नहीं था. ऐसे बड़े मौके कम ही आए थे जब बोर्ड में कोई कुंबले के सपोर्ट में खुलकर सामने आया.
यह भी पढ़े :  इस धुरंधर खिलाड़ी ने विराट सेना को चैलेंज दिया, बोला फिर करूंगा नाक में दम
5. अनुशासन का सख्ती से पालन कहा जाता है कि कोच कुंबले टीम इंडिया में अनुशासन को लेकर काफी सख्त थे. कई मौकों पर वह प्रैक्टिस के दौरान खिलाड़ियों को लताड़ भी लगा चुके थे. साथ ही कई दौरों पर वे टीम के खिलाड़ियों की गर्लफ्रेंड, पत्नियों के जाने के भी खिलाफ थे. हालांकि, इस बारे में कभी उन्होंने खुलकर कोई बयान नहीं दिया.  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *