राजौरी। भारतीय सेना ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देते हुए उसके स्पेशल सर्विस ग्रुप (एसएसजी) के एक कमांडो को मार गिराया। कई चौकियां भी तबाह कर दीं। रविवार दोपहर बाद पाकिस्तानी सेना ने लाम (नौशहरा), पुंछ के शाहपुर और बालाकोट सेक्टरों में भारी गोलाबारी की। लगातार गोलाबारी जारी रहने से सीमा पर तनाव का माहौल बना हुआ है। सीमांत क्षेत्रों में अलर्ट कर दिया गया है।कुछ ऐसे चार जवानों की मौत का सेना ने लिया बदला, पाकिस्तान की रूह भी गई कांप...  जानकारी के अनुसार शनिवार को संघर्ष विराम का उल्लंघन करने के कई घंटे चुप्पी के बाद रविवार दोपहर बाद पाकिस्तानी सेना ने पुंछ के शाहपुर सेक्टर में गोलाबारी शुरू कर दी। इसके बाद नौशहरा के लाम सेक्टर में भारतीय चौकियों के साथ रिहायशी क्षेत्रों को निशाना बनाया। पाकिस्तानी सेना दोनों जगहों पर गोलाबारी की आड़ में आतंकवादियों के दल को भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करवाने का प्रयास कर रही थी। भारतीय सेना ने करारा जवाब देकर पाकिस्तान की चाल को विफल कर दिया। इसके बावजूद पाकिस्तानी सेना गोलाबारी करती रही। बाद में पुंछ के बालाकोट सेक्टर में भी पाकिस्तान ने गोलाबारी की। हालांकि सीमा पर किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं हुआ है। सैन्य चौकियों और रिहायशी क्षेत्रों में पाकिस्तानी सेना लगातार मोर्टार शेल दाग रही थी। रात को भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के एसएसजी का कमांडो मारा गया। नौशहरा सेक्टर में सीमा के उस पार शार्प शूटर के तौर पर कमांडो स्नाइपर के साथ तैनात था। वह भारतीय क्षेत्र में घात लगाकर हमले की तैयारी में था। भारतीय सेना ने बालाकोट व शाहपुर सेक्टर में भी मुंहतोड़ जवाब दिया, जिसमें पाकिस्तान की कई चौकियां तबाह हो गई। सीमा पार पाकिस्तानी सेना की कई एंबुलेंसों को सीमा के करीब आते हुए देखा गया। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना का काफी नुकसान हुआ है। वहीं भारतीय सेना के उच्च अधिकारी लगातार सीमा का दौरा कर हालात का जायजा लेने के साथ जवानों का मनोबल बढ़ा रहे हैं। गौरतलब है कि शनिवार को राजौरी के केरी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की गोलाबारी में चार सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे, जिसमें एक मेजर भी शामिल थे।