पुलिस लोगों की हिफ़ाजत करती है लेकिन कई बार ऐसा होता कि उसे खुद अपनी और परिवार की हिफाज़त के लिए पुलिस थाने में दस्तक देनी पड़ती है. वो भी उसी थाने में जहां कभी उसने काम किया हो. जी हां, मामला अहमदाबाद के एक महिला पुलिस अधिकारी का है. महिला अधिकारी का नाम है उषा राडा जो गुजरात पुलिस में बतौर डीसीपी काम कर रही है. फिलहाल उनकी पोस्टिंग अहमदाबाद के ज़ोन 2 में डीसीपी के तौर पर है और जल्द ही वह आईपीएस अफसर भी बन जाएंगी. हाल ही में महिला अधिकारी ने एक एनआरआई के साथ शादी की. शादी के बाद दोनों हनीमून के लिए निकल गए. एक दिन अचानक उनके और उनके पति के हनीमून की निजी तस्वीरें सोशियल मीडिया पर वायरल होने लगी. इन तस्वीरों के वायरल होने पर सोशल मीडिया में काफी चर्चा भी होने लगी. विदेश में हनीमून पर रही यह अधिकारी इस घटना से बिल्कुल अनजान थीं. जब तक उन्हें पता चला तब तक काफी देर हो चुकी थी. इस बीच एक सामाजिक कार्यकर्ता ने कोर्ट में अर्जी दी कि तस्वीरें बेहद आपत्तिजनक हैं और उन्हें जानबूझकर वायरल किया गया. सामाजिक कार्यकर्ता ने इस पर कार्रवाई की मांग की. इसके बाद महिला अफसर के पति ने अहमदाबाद के साइबर सेल में एफआईआर दर्ज कराया कि किसी ने उनका फेसबुक अकाउंट हैक कर दिया और उनकी तस्वीरें वायरल कर दीं. इससे उनकी और उनके परिवार की बदनामी हो रही है. सायबर सेल ने मामले की जांच शुरू कर दी है. यह साइबर सेल उसी अहमदाबाद क्राइम ब्रांच की शाखा है जहां यह महिला अधिकारी लंबे समय तक काम कर चुकी है.