गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (जीएसटी) के लागू होने में दो सप्ताह से भी कम वक्त बचा है. केंद्र सरकार का दावा है कि एक जुलाई से जीएसटी लागू करने को लेकर सारी तैयारी कर ली गई है. लेकिन खबरें हैं कि जीएसटी लागू करने को लेकर जरूरी कम्प्यूटर प्रोग्राम अभी तक तैयार नहीं हुआ है, ऐसे में इसे तय समय पर लागू करने को लेकर संशय बना हुआ है. बीजेपी नेता सुब्रमणियन स्वामी ने एएनआई से कहा कि इन्फोसिस ने एक जुलाई तक जीएसटी के लिए जरूरी कम्प्यूटर प्रोग्राम तैयार करने को लेकर असमर्थता जाहिर की है. उन्होंने कहा कि यह सरकार के लिए एक बड़ी अड़चन है. इससे पहले उद्योग संगठन एसोचैम ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि जीएसटी के क्रियान्वयन को कुछ दिनों के लिए टाल दिया जाए. एसौचेम का कहना है कि इस नई कर प्रणाली के लिए जरूरी होमवर्क अभी पूरा नहीं हुआ है. एसोचैम का कहना है कि जरूरी आईटी नेटवर्क तैयार नहीं हुआ है, ऐसे में करदाताओं को जीएसटी से जुड़ने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि इस सप्ताह की शुरुआत में केंद्र सरकार ने इस बात पर जोर दिया था कि जीएसटी एक जुलाई से ही लागू होगी. इसके साथ ही सरकार ने जीएसटी लागू नहीं होने को लेकर चल रही अफवाहों से दूर रहने की बात भी की थी.